Search
Close this search box.

Bride absconded before honeymoon in Muzaffarnagar read full story

रिपोर्ट- बिनेश पंवार

मुजफ्फरनगर. उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है. दरअसल एक नई नवेली दुल्हन अपनी सुहागरात की पहली रात में ही अपनी ससुराल में लूट की घटना को अंजाम देकर फरार हो गई. हैरानी की बात तो यह है कि घर वाले चोरी से बेखबर गहरी नींद में सो रहे थे. घटना की जानकारी अगले दिन उस समय हुई जब ससुराल के लोगों की गहरी नींद टूटी और देख कि घर का सारा सामान फैला हुआ है. साथ ही पता चला कि घर की दुल्हनिया लापता है.

दरअसल मामला मुजफ्फरनगर के सिखेड़ा थाना क्षेत्र के नगला मुबारिक का है. गांव के किसान नीरज कुमार का विवाह रुद्रपुर की तहसील सितारगंज निवासी रेखा नाम की एक युवती से 24 जनवरी को कराया गया था. इस पूरे विवाह को हरिद्वार निवासी संजय और अमित के नाम के दो व्यक्तियों द्वारा कराया गया था. यही नहीं, विवाह एक लाख 20 हजार रुपये लेकर कराया गया था. इसके बाद नीरज अपनी पत्नी को लेकर 25 जनवरी को अपने गांव वापस लौट आया था, लेकिन ससुराल आने पर इस नई नवेली दुल्हन ने रस्म बताकर घर में हलवा बनाया और ससुराल के सभी सदस्यों को खुशी-खुशी खिलाकर गहरी नींद में सुला दिया था.

दूल्‍हा ने बताई आपबीती
पीड़ित दूल्हा नीरज और उसके भाई परविंदर ने पुलिस में तहरीर देते हुए बताया कि 24 जनवरी को शादी करने के लिए हम हरिद्वार गए थे. इसके बाद संजय और अमित हमें रुद्रपुर लेकर गए. इसके बाद लखविंदर कौर नाम की महिला से मिलवाया. वह महिला हमें सितारगंज के पास नानक पुख्ता कस्‍बा लेकर गई. वहां लड़की से मिलवाया और लड़का-लड़की की तरफ से रिश्ता पक्का हो गया. इसके बाद संजय, अमित और महिला ने 1 लाख 20 हजार रुपए लिए. वहीं, हम शादी के बाद 25 जनवरी को दुल्‍हन समेत अपने घर आ गए.

दुल्हन ने हलवा में मिलाई बेहोशी की दवा
पीड़ित नीरज के भाई परविंदर ने बताया कि घर आने के बाद लड़की ने जिद की कि कुछ मीठा बनाना है. मां ने जब मना किया तो बोली मीठे से शुरुआत करनी है. ऐसे में मां ने उसी सूजी लाकर दी. उसने हलवा बनाया, लेकिन उसने हलवे में कुछ नशीला पदार्थ मिलाकर सभी घरवालों को खिला दिया. सभी घरवाले हलवा खाने के बाद सोते रहे. इसके बाद उसने रात को अपने साथियों को फोन किया. अमित और संजय गाड़ी लेकर आए. इसके बाद सभी घर से दो लाख रुपये के सोने के अलावा एक लाख के करीब सामान और रुपये लेकर फरार हो गए.

गैंग को पकड़ने में जुटी पुलिस
पीड़ित नीरज ने बताया कि पहले तो हमने अमित और संजय को फोन कर आपबीती बताई, लेकिन दोनों हमें टरकाने लगे. इसके बाद हमने 17 फरवरी को लुटेरी दुल्हन रेखा और विवाह कराने वाले संजय और अमित के खिलाफ धारा 328, 406 और 34 में मुकदमा दर्ज करा दिया. फिर आरोपियों ने पुलिस ने 10 से 15 दिन का समय मांगा, लेकिन उसके बाद भी कुछ नहीं किया तो पुलिस हमें लेकर आरोपियों के ठिकाने पर छापा मारने पहुंची तो सब गायब थे. वहीं, पुलिस का कहना है कि इनका एक गैंग है जो मानव तस्करी भी करता है. इस गैंग की काफी लंबे समय से तलाश चल रही है. जल्द ही मामले का खुलासा करेंगे.

Tags: Muzaffarnagar crime, Muzaffarnagar news, Muzaffarnagar Police

Source link

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer