Search
Close this search box.

माँ के आँचल मे ही जीवन का सार होता है : धीरज सिंह

अमनौर(सारण)प्रखण्ड के ख़ोरी पाकर गोविंद गांव में अमनौर कल्याण पंचायत के सरपँच प्रतिनिधि धीरज सिंह की माता बिंदु देवी का प्रथम श्रद्धांजलि सभा आयोजित किया गया।जिसकी अध्यक्षता शिक्षक प्रभात सिंह ने किया।श्रद्धांजलि सभा मे स्थानीय जन जनप्रतिनिधि शिक्षक बुद्धिजीवियों उपस्थिति रहे ।सर्व प्रथम आए अतिथियों ने बिंदु देवी के तैल चित्रों पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।श्रद्धांजलि सभा के पूर्व इनके स्मृति में राम कथा का आयोजन किया गया था।नशा मुक्ति कमिटी के संयोजक राकेश सिंह ने कहा माता पिता इस धरती के जीवंत ईश्वर है।मातृत्व कृपा से ही संतान की उनती होती है।माँ के कृतित्व को जो नही जानते उनकी मुक्ति किसी जन्म में नही होती है।वह नृह प्राणी होते है।सरपँच प्रतिनिधि धीरज कुमार सिंह ने कहा कि माँ के आंचल मे ही जीवन का सार होती है।माँ इस दुनिया के जगत जननी होती है।

इस मौके पर समाजसेवी करण सिंह ,मनीष विशाल सिंह, उप सरपंच अतुल सिंह,बिनोद सिंह,रामप्रवेश सिंह,समाजसेवी मयंक सिंह राजा सिंह,दीपू सिंह,चंद्रश्याम सिंह,राधेश्याम सिंह,मुन्ना सिंह,सुरेश सिंह,,आनंद राय, जेके राय आरोही ,विश्वनाथ राय समेत सैकड़ों लोग मौजूद थे।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer