Search
Close this search box.

प्रेमी ने प्रेमिका के कहने पर उसके पति की कराई ह’ त्या

  • फाइनेन्सर कर्मी के हत्या का मामला निकला प्रेम प्रसंग
  • शूटर ने तीन हजार मामूली रकम पर फाइनेंसर कर्मी का किया हत्या।

अमनौर :फाइनेंसर कर्मी की हत्या के मामले में पुलिस ने चार दिनों के अंदर एक बड़ी उपलब्धि हाशिल की है।पुलिस ने थाना कांड संख्या 172/23 हत्या कांड मामले का उद्भेदन कर दो अपराधियो को किया गिरफ्तार कर लिया है।अपराधी कोई दूसरा नही स्वयं पत्नी ने अपने प्रेमी से कह पति की कराई हत्या।पुलिस ने मृतक कुणाल की पत्नी काजल कुमारी व इनके प्रेमी भेल्दी थाना के पचरुखी नारायणपुर गांव निवासी रंजीत सिंह के पुत्र धीरज सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।घटना में प्रयुक्त अपाची गाड़ी को भी पुलिस ने बरामद कर लिया है पर शूटर फरार है।थाना अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार ने बताया कि फाइनेंसर कर्मी कुणाल कुमार सिंह की हत्या उजला रंग के आपची से सवार होकर भेल्दी थाना के फिरोजपुर गांव निवासी शिव कुमार सिंह के पुत्र ओम प्रकाश सिंह उर्फ लिलुआ ने देशी कट्टा से पीछे से गोली मारकर हत्या को अंजाम दिया है।पुलिस ने इस कांड में तकनीकि शाखा एसआईटी टीम व अन्य पुलिस दल को गठित की गई ।टावर लोकेशन एवम सीडीआर अन्य साक्ष्य के आधार पर पुलिस ने अपराधियो के तह तक पहुँच गिरफ्तार किया है।
मालूम हो कि मृतक कुणाल सिंह की पत्नी काजल कुमारी शादी के बाद ज्यादातर मायके रहती थी।भेल्दी के नारायणपुर गांव में इनका दूर का सम्बंध था।जिसके द्वारा दोनों का प्रेम सम्बन्ध बना।कई वर्षों से यह प्रेम प्रसंग चल रहा था। काजल अपने प्रेमी धीरज कुमार सिंह से फेस बुक व्हाट्सप फोन से लगातार बात चीत करते रहते थे।दोनों का प्रेम परवान चढ़ने लगा।इसी बीच धीरज कुमार सिंह काजल को शादी करने का दबाव बनाया। तभी काजल ने कही मेरा बच्चा है पति है हमलोग कैसे
शादी कर सकते है।जब तक मेरा पति हटेगा नही तब तक हम कुछ नही कर पाएंगे।मृतक कुणाल सिंह आरा में फाइनेन्सर का काम करता था। सप्ताह में शनिवार को घर लौटता सोमवार को सुबह लौट जाता था।घटना के एक सप्ताह पूर्व कुणाल की पत्नी वर्षो बाद ससुराल आई थी।वह भी बच्चे का बैधनाथ धाम जाकर मनौती चढ़ाने के लिए ।लेकिन इसी बीच क्या होना था।पत्नी को सब पता था पर परिजन अनजान थे।मालूम हो कि धीरज सिंह कुणाल सिंह को मारने के लिए दिनांक 21 जुलाई व 22 जुलाई को भी पालनिग कर हत्या करने गया था।परन्तु प्लान सफल नही होने के कारण वापस आ गया।कुणाल 24 को आरा जाने के लिए घर से निकला ।तभी काजल ने फोन कर प्रेमी को सब कुछ बता दिया। कहा कि मेरा पति निकल चुका है।इसका काम तमाम कर दो।
इसी पर धीरज ने ओम प्रकाश सिंह उर्फ लिलुआ को तीन हजार रुपया पर बात कर कुणाल को मारने का प्लान सेट कर दिया।24 जुलाई को जैसे ही कुणाल अपहर हाई स्कूल के पास पहुँचा तो पीछे से ओमप्रकाश सिंह उर्फ लिलुआ उजले रंग के आपची से पीछा करते आया। देशी कट्टा से गोली मारकर फरार हो गया।जिससे कुणाल की मौत घटना स्थल पर हो गई।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer