Search
Close this search box.

पानी के लिए मचा हाहाकार, नल जल योजना के तहत लोगों को नहीं मिल रही पीने की पानी

पानी के लिए मचा हाहाकार, नल जल योजना के तहत लोगों को नहीं मिल रही पीने की पानी,ग्रामीणों ने किया मुखिया के बिरुद्ध प्रदर्शन।

  न्यूज4बिहार :अमनौर नल जल योजना सरकार के महत्वाकांक्षी योजना है।जिसके तहत लोगों को शुद्ध पानी पीने को मिलती है।प्रखण्ड के धर्मपुरजाफ़र पंचायत स्थित गोसी अमनौर गांव के वार्ड नम्बर 12 में कई माह से नल जल का पानी नही टपक रहा।जिससे ग्रमीणों में काफी आक्रोस है।तपती गर्मी में लोगो को पीने के पानी नही नही मिलने से नाराज ग्रामीणों ने रविवार को मुखिया के बिरुद्ध प्रदर्शन किया।महिलाएं से लेकर पुरुषों तक विरोध जताया है।

बताया जा रहा है कि नल लगे हुए 5 वर्ष बीत गया है लेकिन अभी तक नल से पानी नहीं आ रहा है।हमलोग बस्ती में रहने वाले गरीब असहाय लोग है पैसा के अभाव में चापाकल नही लगा सकता,गर्मी में दूर दूर से पानी लाकर पीने को मजबूर है।आस पास के गांव में नलजल से पानी मिलता है पर यहा नही।जिसको लेकर लोग परेशान हैं, सरकार चाहे लाख दवा कर ले, लेकिन नल जल योजना के तहत हर घर पीने के पानी नहीं पहुंच रहा है। नलजल के टँकी तो लगा है, लेकिन नल में पानी नहीं पहुंच रहा है। लोग टकटकी लगा बैठे हैं कि कब नल से पानी निकलेगा।

इस संबंध में वार्ड सदस्य मनीष कुमार मालाकार का कहना है कि नल जल के काम मुखिया जी के माध्यम से हुआ है।दबंगई से चेक पर हस्ताक्षर करा लिया जाता था।दबंगो को आगे रख आधा अधूरा कार्य कराया गया है,पैसा बंदरबाट का आरोप लगाया है।इन्होंने कहा कि जब से काम हुआ है तभी से अभी तक नल से पानी नहीं आ रहा है।कई बार पीआरओ से शिकायत किया लेकिन कोई फायदा नही हुआ। प्रदर्शन करने वालो में शारदा देवी,मालती कुँअर,सुषमा देवी,रीता देवी,लक्ष्मण दास, अभिषेक रंजन,चंद्रिका ठाकुर,अमरनाथ भगत,दीपक भगत,लाल बाबू भगत,सुनीता देवी,अनिता देवी,समेत दो दर्जन से अधिक शामिल थे।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer