Search
Close this search box.

ग्रामीण इलाकों में स्थित स्वास्थ्य केंद्रों को बेहतर बनाने के लिए पहल की हुई शुरुआत

मिशन बुनियाद की सफलता के लिए जिलास्तरीय टीम का होगा गठन: सिविल सर्जन।

पूर्वाह्न 09 बजे से अपराह्न 05 बजे तक संचालित होगें सभी स्वास्थ्य उपकेंद्र: डीपीएम।

मिशन बुनियाद के तहत स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर कर्मियों की उपलब्धता सुनिश्चित कराना पहली प्राथमिकता।

छपरा 04 जनवरी। सदर अस्पताल सहित प्रमुख अस्पतालों में बुनियादी सेवाओं की बहाली व आधारभूत संरचना के विकास को लेकर संचालित मिशन 60 दिन के तर्ज पर अब ग्रामीण इलाकों में अवस्थित स्वास्थ्य केंद्रों की बेहतरी के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा मिशन बुनियाद शुरू किया गया है। इसके तहत स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर आम जनमानस को उपलब्ध करायी जा रही स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण का प्रयास किया जाएगा। जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत के द्वारा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया गया है।

मिशन बुनियाद की सफलता के लिए जिलास्तरीय टीम का होगा गठन: सिविल सर्जन

सिविल सर्जन डॉ सागर दुलाल सिन्हा ने बताया कि मिशन बुनियाद के तहत जिले के सभी पीएचसी, एपीएचसी, एचएससी स्तर पर उपलब्ध स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाया जाना है। मिशन बुनियाद के तहत ग्रामीण इलाके के अवस्थित अस्पताल भवनों को सुंदर बनाने, साफ-सफाई का बेहतर इंतजाम सुनिश्चित कराने, आवश्यकता अनुरूप सभी जरूरी उपकरणों की उपलब्धता, दवा, चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मियों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने का प्रयास किया जाएगा। हालांकि इस अभियान को मिशन मोड में संचालित किया जाना है। मिशन बुनियाद की सफलता के लिए जिलास्तर से अधिकारियों की टीम गठित की जाएगी। जो संबंधित कार्यों का अनुश्रवण व इसकी बेहतरी के लिए जिम्मेदार होंगे।

पूर्वाह्न 09 बजे से अपराह्न 05 बजे तक संचालित होगें सभी स्वास्थ्य उपकेंद्र: डीपीएम

जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम अरविंद कुमार ने बताया कि मिशन बुनियाद के तहत ग्रामीण इलाकों में अवस्थित स्वास्थ्य केंद्रों को प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित कराया जाना है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए जिले के सभी एचएससी व एपीएचसी का संचालन पूर्वाह्न 09 बजे से अपराह्न 05 बजे तक संचालन सुनिश्चित कराने का आदेश प्राप्त हुआ है। फिलहाल सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) की कमी को देखते हुए सभी सीएचओ को पदस्थापित स्वास्थ्य उपकेंद्र के अतिरिक्त एक अन्य नजदीकी स्वास्थ्य उपकेंद्र का अतिरिक्त प्रभार देने का आदेश मिला है। ताकि सप्ताह में कम से कम तीन दिन दोनों केंद्रों पर चिकित्सकीय कार्य संपन्न हो सके। सीएचओ व स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर पदस्थापित एएनएम की सभी प्रकार की जिलास्तर से की गयी प्रतिनियुक्ति को तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिया गया है।

मिशन बुनियाद के तहत स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर कर्मियों की उपलब्धता सुनिश्चित कराना पहली प्राथमिकता: डीपीसी।

जिला योजना समन्वयक (डीपीसी) रमेश चंद्र कुमार ने बताया कि मिशन बुनियाद के तहत स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर कर्मियों की उपलब्धता सुनिश्चित कराया जाना है। जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग की ओर से आदेश प्राप्त हुआ हैं। जिले के सभी स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर पदस्थापित एएनएम अब अवकाश से संबंधित आवेदन संबंधित सीएचओ को देंगी। उनके माध्यम से इसे प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को अग्रसरित किया जाएगा। सीएचओ द्वारा अग्रसरित नहीं किया जाने वाला आवेदन मान्य नहीं होगा। जबकि राष्ट्रीय महत्व के कार्याक्रमों की सफलता में पूर्व की तरह प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी अपने स्तर से एएनएम से कार्य पूर्ववत ले सकेंगे। हेल्थ एंड वेलनेश सेंटर के स्तर पर आकस्मिक पंजी का संधारण किया जाएगा। प्रखंड स्तर पर होने वाली आशा व एएनएम की साप्ताहिक बैठक दो सप्ताह में एक बार आयोजित होगा। इस तरह सीएचओ की भी नियमित बैठक आयोजित करने का निर्देश विभागीय स्तर से प्राप्त है।

Leave a Comment

What does "money" mean to you?
  • Add your answer